इनकम टैक्स रिटर्न क्या होता है? और इसके क्या फायदे हैं?

इनकम टैक्स रिटर्न क्या होता है? और इसके क्या फायदे हैं?

तो आइए हम इस ब्लॉग के माध्यम से यह जानते हैं, कि आपको इनकम टैक्स रिटर्न कब और क्यों भरना होता है, और उसके क्या-क्या फायदे हैं| तो जैसा कि आप की आमदनी पर केंद्र सरकार टैक्स वसूलती है, इसे ही इनकम हम इनकम टैक्स कहते हैं| इनकम टैक्स से होने वाली जो कमाई होती है उसी पैसे  से सरकार आपको  सुविधाएं और सेवाएं प्रदान करने में इस्तेमाल करती हैं| इसलिए आपको साल में एक बार इनकम टैक्स रिटर्न फॉर्म में सरकार को अपनी आमदनी खर्चा का लेखा जोखा और टैक्स देनदारी के बारे में जो भी जानकारी होती है, आपको सरकार को देना होता है| इसे ही इनकम टैक्स रिटर्न कहते हैं |

इनकम टैक्स रिटर्न वास्तव में आपकी आमदनी और खर्च का एक लिखित लेखा-जोखा है,  जो केंद्र सरकार को आप विस्तार से यह जानकारी देते हैं, कि इस वित्तीय वर्ष में आपने अपनी नौकरी या बिजनेस या अन्य किसी स्रोतों से कितनी कमाई की है| इसके साथ ही इसमें आप सरकार द्वारा निर्धारित कर  बचत के विकल्प में निवेश करने जरूरी चीजों पर खर्च करने और कभी-कभी एडवांस कर चुकाने की जानकारी भी सरकार को देते हैं|

देश के कानून के हिसाब से अगर देखा जाए तो आयकर रिटर्न हर व्यवसाई या व्यक्ति को भरना अनिवार्य होना चाहिए आयकर रिटर्न का  मतलब सरकार को टैक्स चुकाना नहीं है, सिर्फ आपके द्वारा कमाए गए पैसों की जानकारी ही सरकार को देना है|

हर वित्त वर्ष की समाप्ति पर आयकर रिटर्न फाइल करके आप सरकार को या अपने नजदीकी इनकम टैक्स विभाग से यह भी कर सकते हैं, कि हम इनकम टैक्स देनदारी के दायरे में नहीं आते |

इनकम टैक्स रिटर्न भरने और टैक्स चुकाने में क्या अंतर है?

आइए हम इन दोनों अंतर के बारे में जानते हैं|  टैक्स रिटर्न भरना और इनकम टैक्स जमा करने में अगर कोई व्यक्ति टैक्स के दायरे में नहीं आता तब भी वह अपना आयकर रिटर्न भर सकता है नियमित रूप से आयकर रिटर्न भरने से वास्तव में आप अपनी आमदनी का  सबूत सरकार को  जमा कर देते हैं जो किसी भी वक्त अपनी आमदनी साबित करने में आपको मदद कर सकता है| ताकि आप कोई भी लोन ले रहे हैं, या  किसी भी प्रकार का अपना इनकम सर्टिफिकेट बच्चों के स्कॉलरशिप का पैसा प्राप्त करने के लिए इत्यादि इत्यादि तो उसके लिए आपको इनकम टैक्स रिटर्न फॉर्म की आवश्यकता होती है| और कहीं कहीं तो बैंक के या कोई भी डिपार्टमेंट आप से 3 साल का आपका इनकम टैक्स रिटर्न का लेखा-जोखा भी मांगा जाता है यह आपकी आमदनी का सबसे भर भरोसेमंद जाता है|

अगर आप की आमदनी टैक्स के दायरे में नहीं आती है आइटीआर फाइल करना जरूरी नहीं है|

अगर आप नियमित रूप से अपना आयकर रिटर्न भरते हैं, तो आपको उसके कई फायदे मिलते हैं एक रिपोर्ट के मुताबिक़ अगर देखा जाए तो भारत देश की कुल 130 करोड़ की आबादी में केवल दो करोड़ भारतीयों ने निर्धारण वर्ष 15-16 में आयकर का भुगतान किया था| देश की कुल जनसंख्या कुल आबादी की 1.7 है|

इस ब्लॉग में यह भी जानिए कि जीरो इनकम टैक्स रिटर्न क्या है?

विभाग के मौजूदा नियमों के हिसाब से अगर कोई व्यक्ती कीआमदनी सालाना 2.5 से कम कम है, तो आप के लिए ITR भरना जरूरी नहीं है ऐसे में आप भी जीरो ITR भर सकते हैं| इसका मतलब यह है, कि आप सरकार से  टैक्स  नहीं छुपाते हो आप लेकिन अपनी आमदनी और खर्च की जानकारी तो दे देते हो |

इनकम टैक्स रिटर्न कैसे भरा जाता है?

अगर देखा जाए तो इनकम टैक्स रिटर्न भरने के कई सारे तरीके हैं, जिसमें ई-फाइलिंग से लेकर फिजिकल फॉर्म तक शामिल है, आप अपना आयकर रिटर्न स्वयं भी  भर सकते हो या तो किसी चार्टर्ड अकाउंटेंट या इनकम टैक्स प्रैक्टिशनर की मदद से भी भर सकते हो|

तो मुझे उम्मीद है दोस्तों की आपको यह इनकम टैक्स का जो आर्टिकल है वह अच्छा लगा होगा अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा होगा लाइक शेयर करना ना भूले|

नोट:-

इस साइट की सामग्री को सही और अद्यतित रखने के लिए सभी प्रयास किए जाते हैं। लेकिन, यह साइट अपने पृष्ठों पर दी गई जानकारी के बारे में सही और अद्यतित होने के बारे में कोई दावा नहीं करती है। इस साइट की सामग्री को कानून के एक बयान के रूप में नहीं माना जा सकता है, या व्याख्या नहीं की जा सकती है। किसी मामले में, किसी व्यक्ति को इस साइट या उसके किसी भाग की सामग्री को उसके उपचार या व्याख्या करने, अज्ञानता से बाहर, या अन्यथा, इस साइट के सही, पूर्ण और अद्यतित बयान के कारण किसी भी तरह की हानि या क्षति होती है। इस तरह के नुकसान या क्षति के लिए किसी भी तरह से उत्तरदायी नहीं होगा।

About canihelpyouonline 212 Articles
www.canihelpyouonline.com Through this website we'll give you information on Income Tax, Youtube, Mobile, Software, Computer, Tax Deduction at Source and Affiliate Marketing and all new technology in Hindi. Founder: Anilkumar R Yadav.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*