उल्टे एटीएम पिन का वायरल सच | Kidnap with ATM card.

अगर आपको कोई आपके एटीएम के साथ किडनैप कर ले तो आप क्या करोगे ?

ATM PIN

उल्टे एटीएम पिन का वायरल सच | Kidnap with ATM card:- अगर आपको याद होगा तो कुछ दिन पहले सोशल मिडिया याने whatsapp,Facebook,Twitter इत्यादी पर एक खबर बहुत तेजी से वायरल हो रही थी की अगर आपको ATM कार्ड के साथ कोइ बदमाश किडनैप करके आपको कहे की ATM पिन डालकर पैसे निकालकर मुझे दो तो आप उस बदमाश का बिल्कुल भी विरोध मत कीजिए और ATM की जो पिन होती है,उसे उल्टा डालिए उदा:- आपकी पिन 1234 है तो उसे आप 4321 इस प्रकार से डालिए इससे होगा यह की पैस तो एटीएम मशीन से निकलेगा लेकीन आधा और एटीएम मशीन के जरिए नजदीकी पुलिस स्टेशन में खतरे का अलार्म बजेगा और साथ ही साथ एटीएम का जो दरवाजा होगा वह आटोमेटीक बंद हो जाएगा और आप बच जायेंगे|

ATM PIN WITHDRWAL MONEY

तो मैंने उस मैसेज को बड़े ही ध्यान पूर्वक पढ़ा उसमे लिखा था की आपकी पिन 1234 है तो उसे आप 4321 इस प्रकार से डालिए तो मुझे जो शंका हुई वह निम्नलिखित है |

  • अगर किसीका एटीएम पिन 8888 है तो वह उसे कैसे उल्टा डालेगा | क्यों की उल्टा डालने पर भी वह पिन नंबर ज्यो का त्यों रहेगा | उदा: 8888
  • और अगर किसी का पिन 7117 हो तो वह भी उल्टा डालने पर ज्यो का त्यों रहेगा |

 

ATM PIN

तो मुझे कुछ शक हुआ और मै उस सन्देश की सत्यता जाचने के लिए स्वयं एटीएम में जाकर अपने एटीएम का उल्टा पिन डाला लेकिन ऐसा करने पर न ही नजदिकी पुलिस चौकी में कोई सूचना गई ना ही ATM का दरवाजा अपने आप बंद हुआ और ना ही एटीएम से पैसे निकले “एटीएम पिन उल्टा डालने पर सिर्फ एटीएम मशीन की स्क्रीन पर यह मैसेज आया की आपकी पिन गलत है दुबारा सही पिन डालिए”, अंत में जांच पड़ताल करने पर यह पता चला की कोइ भी एटीएम मशीन का लिंक पुलिस चौकी से नहीं होता है |

इससे यह साबीत होता है की सोशल मिडिया पर जो इस प्रकार का सन्देश वायरल हो रहा है,वह सरासर झूठ है,इस प्रकार के मैसेज की सत्यता जाने बगैर आप ऐसे सन्देश किसी को भी फॉरवर्ड और शेयर कत्थई न करे |इससे सामने वाले व्यक्ती का तो कोई लाभ होगा नही बल्की आप मुसीबत में पड़ सकते है |

About canihelpyouonline 212 Articles
www.canihelpyouonline.com Through this website we'll give you information on Income Tax, Youtube, Mobile, Software, Computer, Tax Deduction at Source and Affiliate Marketing and all new technology in Hindi. Founder: Anilkumar R Yadav.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*