अपना Income Refund Status समय के पहले पाने के 6 जादुई मूलमंत्र |

income tax refund

अगर आप अपने Income Refund Status को जल्दी पाना चाहते हैं, तो हमेशा इन 6 बातों का ध्यान में रखिये:- अगर आप एक करदाता है, और आपने आपना ‘Refund’ पाने के रिटर्न File किया है| और अगर आपको आपका इनकम टैक्स रिफंड मिल जाता है, तो इसकी खुशी किसी Jackpot जीतने से कम नहीं होती है| वर्ष में आपको एक ही बार अपना आयकर रिटर्न फ़ाइल करके सरकार को Tax से ज्यादा भुगतान किए गए अतिरिक्त Tax की वापसी का दावा करने का अवसर मिलता है |

     हालांकि आपको अपना आयकर रिटर्न File करने के बाद यह बात ध्यान में रखनी होगी की आपका रिफंड आपके बैंक के अकाउंट में जमा हुआ है, या नहीं इसके लिए आप अपने मोबाइल पर रिफंड का App भी डाउनलोड करके  अपने आयकर रिफंड का स्टेटस को भी आसाने से जान सकते है |

1- आप अपने Income Refund Status कैसे जाने ?

    आयकर विभाग ने बीते कई वर्षो से आपके आयकर रिफंड की स्थिति को जानने के लिए कई ऑनलाइन सुविधा मुहैया कराया है | जैसे- आजकल तो मोबाइल में कई App भी available हैं | और आप आयकर विभाग के ई-फाइलिंग पोर्टल के माध्यम से आप अपना रिफंड स्टेटस को जान सकते हैं, और अगर किसी भी कारणवश आपको अपना रिफंड मिलाने में देरी हो जाती है, तो ऐसी स्थिती में आप आसानी से आयकर विभाग की वेबसाइट पर जाकर किस वजह से आपका रिफंड रुका हुआ है | उसकी वजह जानकर आप उसे Rectify कर सकते है |

2- कभी भी अपना आयकर रिटर्न File करने के लिए, अंतिम तिथी का इन्तजार ना करें |

जैसा की हमें अपने बचपन से ही अपने जरूरी कामकाज आखिरी तिथी में करने में आदत होती है,  फिर चाहे वह स्कूल कॉलेज की परीक्षा हो या फिर कोई और अन्य जरुरी काम इसमें कोई दो राय नहीं है, कि हम हमेशा अपना आयकर रिटर्न अंतिम तिथी आने पर ही भरेंगे अभी तो बहुत समय हैं, यही सोचते है | लेकिन ऐसा बिल्कुल भी ना  करें आप जितना लेट अपना आयकर रिटर्न File करेंगे आपका रिफंड भी उतना ही देरी से आयेगा |

Read Also:- हमें हमारा इनकम टैक्स रिफंड क्यों नहीं मिलता है? आईऐ जानते है?

Read Also:- आयकर धारा 234B और 234C के तहत ब्याज का जुर्माना क्या है? और यह क्यों आता हैं?

3- अगर आपका ज्यादा टैक्स कट गया है, तो आप अपने आयकर ‘Refund’  के लिए दावा करना कभी भी न भूलें |

     आपने अपने लिए कई तरह के ऐसे इन्वेस्टमेंट किये होते हैं, जिसे आप आयकर रिटर्न File करके Tax कटौती के रूप में Claim कर सकते हो | यदि आप टैक्स रिफंड के दावेदार हैं, तो सिर्फ ऐसी स्थिती में अगर आप अपना आयकर रिफंड नहीं File करते है, तो आप सरकार को अतिरिक्त चुकाए गए टैक्स के रिफंड को मिलने मौका खो देंगे | इसलिए, आपको यह सलाह देता हूँ, कि आप बिना समय गवांये अपना आयकर रिफंड के पाने के लिए सही सही राशि का दावा कीजिये |

4- आयकर रिटर्न File करने के अंतिम समय में हमें अपना रिटर्न दिन या रात में File करना चाहिए |

     एक बात मैंने और यह भी है, की आयकर रिटर्न File करने के शुरुवाती दिनों में आयकर की वेबसाइट भी बहुत तेज गती से काम करती है | और वहीं अंतिम दिनों में इतनी धीमी हो जाती है, की जल्दी खुलती नहीं है | और अगर खुलती भी है, तो हम अपना जो भी डाटा है | जब हम सेव करने जाते है, तो हमारा पेज लॉगआउट हो जाता है, और हम अपना डाटा सेव नहीं कर पाते है |इसलिए अगर आपको भी ऐसी ही समस्या आती है, तो कभी भी अपना आयकर रिटर्न दिन में न भरकर रात में नौ या दस बजे के बाद भरा करे |

     क्यों की उस समय टैक्स रिटर्न File करने वालो की संख्या कम होती है, और आपका काम भी आसानी से हो जाता हैं |

5- अपना आयकर रिटर्न दाखिल करते समय पुरी जानकारी ध्यान से भरे कभी भी उसमे गलतियां न करें |

     यह बात आपके लिए जान लेना जरुरी है, कि आप अपना इनकम टैक्स रिटर्न सही से और सटीक रूप से दाखिल करें | इससे होगा यह की आपको आपका रिफंड जल्दी मिलाने में आसानी होगी | और यदि आप अपने आयकर रिटर्न फॉर्म में किसी भी प्रकार की कोई गलतियां करते हैं, तो आयकर विभाग आपको दोबारा से आपको Revise रिटर्न फाइल करने के लिए कह सकता है | इसमें होगा यह कि आपको आपका आयकर रिफंड मिलने में और अधिक समय लग जाएगा |

     और यदी आपके Assesing ऑफिसर द्वारा कोई छोटी सी भी गलती रह जाती है, तो आपको आपका रिफंड मिलने में ज्यादा समय लग जाता है | ऐसे में देखा गया है, की करदाता सबसे अधिक गलतियां अपनी बैंक डिटेल्स को भरने में करते है | ऐसी स्थिती में आपको अपने बैंक की जानकारी दोबारा से Online जाकर भरनी होती हैं, तब अंत में जाकर आपको आपका रिफंड मिल पाता है |

6- अपना आयकर रिफंड जल्दी पाने के लिए क्या करें |

     अगर आप एक करदाता है, और आप अपना आयकर रिटर्न फ़ाइल करने की सोच रहे है | और साथ में यह भी चाहते है, की हमें हमारा रिफंड जल्द से जल्द मिल जाय तो | उसके लिए आपको अपना आयकर रिटर्न ऑफलाइन न File करके online करना चाहिए और online करने के बाद कई लोग क्या करते है, की उसकी प्रिंट निकालकर एक कॉपी पर अपनी सही करके उसे इनकम टैक्स विभाग के सेंट्रल प्रोसेसिंग सेंटर (CPC) को भेजते हैं, लेकिन इस प्रोसेस में भी समय लगता हैं | ऐसे में आपके अपना रिफंड में देरी हो सकती है, क्योंकि फिजिकल कॉपी को सेंट्रल प्रोसेसिंग सेंटर के विभाग तक पहुंचने और प्रोसेस होने में काफी समय लग जाता है, तो आप इसके बदले आपको पेपरलेस काम करना चाहिए और अपने रिटर्न फॉर्म को ई-वेरीफाई करना चाहिए |

     इससे आपका वक्त भी बचेगा और रिफंड भी जल्दी आ जाएगा | हां लेकिन ई-वेरीफाई करने के लिए आपके आधार कार्ड से आपका मोबाइल नम्बर लिंक होना जरुरी है |

About canihelpyouonline 163 Articles
www.canihelpyouonline.com Through this website we will give you information on Income Tax,Youtube,Mobile,Software,Computer,Tax Deduction at Source and Aliate Marketing and all new technology in Hindi.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*